विदेशी भाषा का किसी स्वतंत्र राष्ट्र के राजकाज और शिक्षा की भाषा होना सांस्कृतिक दासता है। - वाल्टर चेनिंग
 
साहित्‍य अकादमी द्वारा भारतीय भाषाओं में लिखने हेतु आवेदन आमंत्रित  (विविध)     
Author:भारत-दर्शन समाचार

भारत, 24 जुलाई 2016: साहित्‍य अकादमी ने भारतीय भाषाओं में लिखने के लिए युवा लेखकों को प्रोत्‍साहित करने के लिए युवा पुरस्‍कार हेतु आवेदन आमंत्रित किए हैं।

संस्‍कृति मंत्रालय के अंतर्गत साहित्‍य अकादमी ने भारतीय भाषाओं में लिखने के लिए युवा लेखकों, जो 35 वर्ष से कम आयु के हैं, को प्रोत्‍साहित करने के लिए वर्ष 2011 में ‘युवा पुरस्‍कार' प्रारंभ किया था। तब से अकादमी द्वारा मान्‍यता प्राप्‍त भारतीय भाषाओं जैसे असमी, बंग्‍ला, बोडो, डोगरी, अंग्रेजी, गुजराती, हिंदी, कन्‍नड़, कश्‍मीरी, कोंकणी, मैथिली, मलयालम, मणिपुरी, मराठी, नेपाली, उडि़या, पंजाबी, राजस्‍थानी, संथाली, संस्‍कृत, तमिल, तेलुगू, सिंधी एवं उर्दू में युवा भारतीय लेखकों द्वारा लिखी गई सर्वश्रेष्‍ठ पुस्‍तकों को कुल 106 पुरस्‍कार दिए जा चुके हैं। ये पुरस्‍कार एक सम्‍मानित समारोह में प्रदान किए जाते हैं और इनमें 50 हजार रुपये की यह राशि, एक फलक एवं एक प्रशंसात्‍मक उल्‍लेख शामिल होता है।

साहित्‍य अकादमी युवा पुरस्‍कार 2017 के लिए अकादमी द्वारा मान्‍यता प्राप्‍त सभी 24 भाषाओं में 35 वर्ष या उससे कम आयु के युवा भारतीय लेखकों तथा प्रकाशकों से पुस्‍तकें आमंत्रित कर रहा है। आवेदक लेखक की उम्र पहली जनवरी 2017 को 35 वर्ष या उससे कम होनी चाहिए। प्रतिवेदन की अंतिम तिथि 30 सितंबर 2016 है।  पुस्‍तकें जन्‍म तिथि प्रमाण पत्र की एक प्रमाणित प्रति के साथ भेजी जानी चाहिए।

प्रतिवेदन के बारे में और जानकारी साहित्य अकादमी की वेब पृष्ठ पर उपलब्ध है।

प्रविष्टियां साहित्य अकादमी के निम्‍न पृष्ठ पर भी भेजी जा सकती हैं:

http://sahitya-akademi.gov.in/sahitya-akademi/awards/award_contact.jsp

 

 

Previous Page  |  Index Page  |   Next Page
 
 
Post Comment
 
 
 

सब्स्क्रिप्शन

इस अंक में

 

इस अंक की समग्र सामग्री पढ़ें

 

 

सम्पर्क करें

आपका नाम
ई-मेल
संदेश

Deprecated: Directive 'allow_url_include' is deprecated in Unknown on line 0