राष्ट्रभाषा के बिना आजादी बेकार है। - अवनींद्रकुमार विद्यालंकार

सितम्बर-अक्टूबर 2021

सितम्बर-अक्टूबर 2021

भारत-दर्शन से जुड़ें : फेसबुक  - ट्विटर

सदैव की भांति इस अंक में भी  'कथा-कहानी' के अंतर्गत कहानियाँलघु-कथाएं व बाल कथाएं। इस अंक के काव्य  में सम्मिलित है - कविताएंदोहेभजनबाल-कविताएंहास्य कविताएं व गज़ल

बाल साहित्य में बाल-कविताएँ, पंचतंत्र की कहानी प्रकाशित की गई है। हमारा प्रयास रहा है कि ऐसी सामग्री प्रकाशित की जाए जो इंटरनेट पर उपलब्ध नहीं है। आप पाएंगे कि यहाँ प्रकाशित अधिकतर सामग्री केवल 'भारत-दर्शन' के प्रयास से इंटरनेट पर अपनी उपस्थिति दर्ज कर रही है ।

भारत-दर्शन के इस कथा-कहानी अंक में हमने अनेक कहानियाँ प्रकाशित की हैं, जिनमें हिंदी की वे सभी कहानियाँ जिन्हें विभिन्न विद्वानों ने 'हिंदी की प्रथम कहानी' माना है, सम्मिलित हैं। 

हिंदी की पहली कहानी कौनसी है, यह आज भी चर्चा का विषय है।  विभिन्न कहानियाँ 'पहली कहानी' होने की दावेदार रही हैं। आज भी इसपर चर्चा-परिचर्चा होती है।  सयैद इंशाअल्लाह खाँ की 'रानी केतकी की कहानी', राजा शिवप्रसाद सितारे हिंद की लिखी 'राजा भोज का सपना' किशोरीलाल गोस्वामी की 'इंदुमती', माधवराव स्प्रे की 'एक टोकरी भर मिट्टी', आचार्य रामचंद्र शुक्ल की 'ग्यारह वर्ष का समय' व बंग महिला की 'दुलाई वाली' अनेक कहानियाँ हैं जिन्हें अनेक विद्वानों ने अपना पक्ष रखते हुए हिंदी की सर्वप्रथम कहानी कहा है।

इसी प्रकार प्रकाशित लघुकथाओं में भी, कुछ प्रथम कहीं जाने वाली लघुकथाएँ भी सम्मिलित की गई हैं। 

प्रेमचंद, जयशंकर प्रसाद और निराला की पहली रचनाओं के अतिरिक्त अनेक विधाओं की प्रथम रचनाएँ प्रकाशित करने का एक प्रयास किया गया है। 

'भारत-दर्शन' का यह प्रयास पाठकों को रोचक व पठनीय लगेगा, ऐसा हमारा विश्वास है।

भारत-दर्शन का सम्पूर्ण अंक पढ़ें।  

 

Links: 

Hindi Stories
Hindi Poems

Daily Stories

एकता

एक पिता के चार पुत्र थे। चारों में प्रायः हमेशा ही झगड़ा बना रहता। इससे उनकी शारीरिक और आर्थिक ही नहीं, मानसिक और बौद्धिक अवनति ...

Mythology Collection

शनिवार की व्रत कथा | Shaniwar Katha

एक समय स्वर्गलोक में 'सबसे बडा कौन? के प्रश्न पर नौ ग्रहों में वाद-विवाद हो गया। विवाद इतना बढा कि परस्पर भयंकर युध्द की स्थिति ...

Festival of the Month

Our News

सब्स्क्रिप्शन

इस अंक में

 

इस अंक की समग्र सामग्री पढ़ें

 

 

सम्पर्क करें


Deprecated: Directive 'allow_url_include' is deprecated in Unknown on line 0