यदि हम अंग्रेजी दूसरी भाषा के समान पढ़ें तो हमारे ज्ञान की अधिक वृद्धि हो सकती है। - जगन्नाथप्रसाद चतुर्वेदी।

व्यंग्य

हिंदी व्यंग्य. Hindi Satire.

Article Under This Catagory

एक नफरत कथा | व्यंग्य - शंकर पुणतांबेकर

यह सही है कि ‘हेट्रेड इज ब्लाइंड’, वरना 'ख' में ऐसा कुछ बुरा नही था कि उसे देख 'क' उससे नफरत करने लगता। 'ख' की जाति, वर्ण, दृष्टि, खानपान, बोली, त्योहार भिन्न थे पर बुरे नहीं. या यों कहें कि वे ऐसे ही अच्छे-बुरे थे जैसे क के. फिर भी क ख की नफरत में पड़ गया। 'क' ने उसे एक फंक्शन में देखा जो उसी की जमात का था। यहां 'ख' से 'क' की चार आंखें हुईं और उसकी उससे नफरत हो गयी। यह एक प्रकार से फर्स्ट साइट हेट्रेड थी।

 
प्रधान जी - रोहित कुमार 'हैप्पी' | न्यूज़ीलैंड

अमरीका में एक कहावत प्रचलित थी लेकिन आजकल अनेक कारणों से इसका प्रयोग लगभग वर्जित ही है। कहावत थी-- ‘Too many chiefs and not enough Indians.’  इस कहावत का देसी अर्थ हुआ, ‘प्रधान सब हैं, काम करने को कोई तैयार नहीं।‘ इस कहावत का संबंध तो अमरीका के मूल निवासियों (रेड इंडियंस) पर आधारित है लेकिन ‘इंडियन’ तो इंडियन हैं, क्या लाल, क्या पीले!      

 

सब्स्क्रिप्शन

सर्वेक्षण

भारत-दर्शन का नया रूप-रंग आपको कैसा लगा?

अच्छा लगा
अच्छा नही लगा
पता नहीं
आप किस देश से हैं?

यहाँ क्लिक करके परिणाम देखें

इस अंक में

 

इस अंक की समग्र सामग्री पढ़ें

 

 

सम्पर्क करें

आपका नाम
ई-मेल
संदेश