कथा, कहानियां, कविताएं : भारत-दर्शन, सितंबर-अक्टूबर 2022
भारतीय एकता के लक्ष्य का साधन हिंदी भाषा का प्रचार है। - टी. माधवराव।

Archive of सितंबर-अक्टूबर 2022 Issue

सितंबर-अक्टूबर 2022

न्यूज़ीलैंड से प्रकाशित हिंदी पत्रिका, 'भारत-दर्शन' से जुड़ें  : फेसबुक  - ट्विटर

आप सभी को दीवाली की शुभकामनाएँ। 

सदैव की भांति इस अंक में भी  'कथा-कहानी' के अंतर्गत कहानियाँलघु-कथाएं व बाल कथाएं। इस अंक के काव्य  में सम्मिलित है - कविताएंदोहेभजनबाल-कविताएंहास्य कविताएं व गज़ल

इस अंक में पढ़िए, जगन्नाथ प्रसाद चौबे 'वनमाली' की कहानी, 'आदमी और कुत्ता', दुष्यंत कुमार की, 'आघात', अलका सिन्हा की कहानी, 'जन्म दिन मुबारक', बसवराज कट्टीमनी की कहानी 'बूट पॉलिश', डॉ संध्या सिंह की कहानी, 'एक लड़की', और दीपक शर्मा की कहानी, 'बुरा उदाहरण'। 

लघु-कथाओं में विष्णु प्रभाकर की लघुकथा, 'वह बच्चा थोड़े ही न था', हरिशंकर परसाई की लघुकथा, 'जाति', दिलीप कुमार की लघुकथा, 'चल, भाग यहाँ से',  मुक्तिनाथ सिंह की लघुकथा, 'सत्य और असत्य', और सुशील शर्मा की लघुकथा, 'गाय की रोटी'। 

लोक-कथाओं में इस बार पढ़िए, सामोआ द्वीप की लोक-कथा, 'धरती की उत्पत्ति'।  

व्यंग्य में इस बार पढ़िए,  प्रताप नारायण मिश्र का व्यंग्य, 'दाँत', हरिशंकर परसाई का व्यंग्य 'शॉक', प्रो॰ राजेश कुमार का व्यंग्य, 'महाकवि और धारा 420 सीसी की छूट' और डॉ. सुरेश कुमार मिश्रा ‘उरतृप्त’ का व्यंग्य, 'यंत्र, तंत्र, मंत्र'। 

काव्य में इस बार पढ़िए भारतेन्दु हरिश्चंद्र, महादेवी वर्मा, गयाप्रसाद शुक्ल 'सनेही',  उदयभानु हंस, कुँअर बेचैन, अश्वघोष, अटल बिहारी वाजपेयी, डॉ मृदुल कीर्ति, सुशील शर्मा, मंगलप्रसाद विश्वकर्मा, गोकुलचंद्र शर्मा एवं आराधना झा श्रीवास्तव की कविताएं। 

इस अंक में उदयभानु हंस, ज्ञानप्रकाश विवेक, शैल चतुर्वेदी, संध्या नायर, निज़ाम-फतेहपुरी और ज़फ़रुद्दीन ज़फ़र की ग़ज़लें पढ़ें। 

भारतीय काव्य में रसों में से हास्य रस प्रमुख रस है, इस बार प्रतीप चौबे,  काका हाथरसी की हास्य रचनाएँ प्रकाशित की हैं।

आलेखों में डॉ जगदीश गांधी, डॉ संध्या सिंह, डॉ सुभाषिनी लता, विनीता तिवारी और रोहित कुमार हैप्पी के आलेख पढ़ें।  इस अंक में प्रो. बीना शर्मा का निबंध, 'तो हरे भरे बने रहिए न' भी पढ़ें। 

बाल साहित्य के अंतर्गत पंचतंत्र की कथा,  तेनाली राम व अन्य बाल कहानियाँ पढ़ें। इनके अतिरिक्त बच्चों की कविताएं सम्मिलित की गई हैं।  

विजय दशमी, दीवाली एवं भैया दूज पर विशेष सामग्री प्रकाशित की गई है। 

यह अंक आपको भेंट।

भारत-दर्शन का सम्पूर्ण अंक पढ़ें।  

सब्स्क्रिप्शन

सर्वेक्षण

भारत-दर्शन का नया रूप-रंग आपको कैसा लगा?

अच्छा लगा
अच्छा नही लगा
पता नहीं
आप किस देश से हैं?

यहाँ क्लिक करके परिणाम देखें

इस अंक में

 

इस अंक की समग्र सामग्री पढ़ें

 

 

सम्पर्क करें

आपका नाम
ई-मेल
संदेश