वह हृदय नहीं है पत्थर है, जिसमें स्वदेश का प्यार नहीं। - मैथिलीशरण गुप्त।

हिन्दी के संत कवियों के परिचय और रचनाएँ

हिन्दी के संत कवि

हिंदी-काव्य की विभिन्न धाराओं के प्रतिनिधि संत कवियों के इस पृष्ठ पर संत काव्य का संकलन हो रहा है। आप निम्नलिखित लिंक के माध्यम से उनके जीवन परिचय और रचनाएँ पढ़ सकते हैं।

कबीरदास
गुरु नानक
दादू दयाल
सुंदरदास
धरनीदास
पलटूदास
जगजीवनदास
भीखा साहिब
चरनदास
रैदास
मलूकदास
दयाबाई
सहजो बाई
दरिया साहब (बिहारवाले)
दरिया साहब (मारवाड़ वाले)
गुलाल साहब
बुल्ला साहब
बुल्लेशाह
यारी साहब
दूलन दास
गरीबदास
काष्ठजिह्वा स्वामी
नामदेव जी
सदना जी
धर्मदास

सब्स्क्रिप्शन

सर्वेक्षण

भारत-दर्शन का नया रूप-रंग आपको कैसा लगा?

अच्छा लगा
अच्छा नही लगा
पता नहीं
आप किस देश से हैं?

यहाँ क्लिक करके परिणाम देखें

इस अंक में

 

इस अंक की समग्र सामग्री पढ़ें

 

 

सम्पर्क करें

आपका नाम
ई-मेल
संदेश