अपनी सरलता के कारण हिंदी प्रवासी भाइयों की स्वत: राष्ट्रभाषा हो गई। - भवानीदयाल संन्यासी।
सुषमा स्वराज नहीं रहीं  (विविध)  Click to print this content  
Author:भारत-दर्शन समाचार

Sushma Swaraj

6 अगस्त 2019 (भारत): भारत की पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज (Sushma Swaraj) का 6 अगस्त की रात दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) में निधन हो गया। उन्हें हृदय आघात (हार्ट अटैक) होने पर एम्स लाया गया था और वे रात 10 बजे एम्स में भर्ती की गईं थी।

सुषमाजी को एक विदेश मंत्री के रूप में उनकी प्रतिबद्धता और सक्रियता के कारण सदैव जाना जाएगा। हिंदी से उनका अनुराग जगत प्रसिद्ध है। पिछले दो 'विश्व हिंदी स्म्मेलनों' में उनकी सक्रियता सराहनीय रही है।

निधन से कुछ घंटे पूर्व सुषमा ने एक ट्वीट में कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बधाई दी थी। इसमें उन्होंने लिखा था- "जीवन में इसी दिन की प्रतीक्षा कर रही थी।"

Last Twitter from Sushma Swaraj

सुषमा स्वराज का जन्म 14 फरवरी 1952 को हरियाणा के अंबाला में हुआ था। उनका परिवार राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़ा था।

सुषमा ने सबसे पहला चुनाव 1977 में लड़ा। तब वे 25 वर्ष की थीं। वे हरियाणा की अंबाला सीट से चुनाव जीतकर देश की सबसे युवा विधायक बनीं। आप हरियाणा की देवीलाल सरकार में मंत्री भी रहीं। आप किसी राज्य में मंत्री के पद पर रहने वाली सबसे युवा मंत्री थीं।

1998 में दिल्ली की पहली महिला मुख्यमंत्री बनीं।

Previous Page  |  Index Page  |   Next Page
 
 
Post Comment
 
 
 

सब्स्क्रिप्शन

सर्वेक्षण

भारत-दर्शन का नया रूप-रंग आपको कैसा लगा?

अच्छा लगा
अच्छा नही लगा
पता नहीं
आप किस देश से हैं?

यहाँ क्लिक करके परिणाम देखें

इस अंक में

 

इस अंक की समग्र सामग्री पढ़ें

 

 

सम्पर्क करें

आपका नाम
ई-मेल
संदेश