यह कैसे संभव हो सकता है कि अंग्रेजी भाषा समस्त भारत की मातृभाषा के समान हो जाये? - चंद्रशेखर मिश्र।

कम्प्यूटर | बाल गीत

 (बाल-साहित्य ) 
Print this  
रचनाकार:

 रेखा राजवंशी | ऑस्ट्रेलिया

नहीं चाहिए मुझको ट्यूटर
माँ मुझको ला दे कम्प्यूटर।

कम्प्यूटर में ज्ञान है सारा
ये है सारे जग से न्यारा।
ये स्पेलिंग सिखलाता है
शब्दकोष इसमें आता है।
पूछो कोई भी सवाल तो
गूगल भाई सुलझाता है।
गणित और विज्ञान सभी के
मिनटों में ले आता उत्तर।

नहीं चाहिए मुझको ट्यूटर
माँ मुझको ला दे कम्प्यूटर।

कम्प्यूटर में नए खेल हैं
मित्रों से भी यहाँ मेल है।
बच्चों की कविताएं भी हैं
फिल्मों की भी रेल-पेल है।
हलवा, पूरी, केक, मिठाई
माँ ने पढ़ कर रोज बनाई।
हम सबने खाए जी भर के
चाट, पकोड़े, आलू बर्गर।

नहीं चाहिए मुझको ट्यूटर
माँ मुझको ला दे कम्प्यूटर।

- रेखा राजवंशी, ऑस्ट्रेलिया

Back
 
Post Comment
 
 

सब्स्क्रिप्शन

सर्वेक्षण

भारत-दर्शन का नया रूप-रंग आपको कैसा लगा?

अच्छा लगा
अच्छा नही लगा
पता नहीं
आप किस देश से हैं?

यहाँ क्लिक करके परिणाम देखें

इस अंक में

 

इस अंक की समग्र सामग्री पढ़ें

 

 

सम्पर्क करें

आपका नाम
ई-मेल
संदेश