जब हम अपना जीवन, जननी हिंदी, मातृभाषा हिंदी के लिये समर्पण कर दे तब हम किसी के प्रेमी कहे जा सकते हैं। - सेठ गोविंददास।
केन्द्रीय हिदी संस्थान के हिंदी सेवी सम्मानों की घोषणा (विविध)  Click to print this content  
Author:भारत-दर्शन समाचार

22 सितंबर 2021 (भारत): केन्द्रीय हिदी संस्थान द्वारा वर्ष 2018  के लिए 12 श्रेणियों के पुरस्कारों के लिए देश-विदेश के 26 महत्वपूर्ण रचनाकारों को पुरस्कृत करने की घोषणा भारत के शिक्षा मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान के अनुमोदन व केन्द्रीय हिंदी शिक्षण मंडल के उपाध्यक्ष अनिल जोशी की गरिमामय उपस्थिति में निदेशक बीना शर्मा द्वारा 21 सितंबर को आगरा में की गई।  पुरस्कार में 5 लाख रुपये, प्रशस्ति पत्र, शाल भेंट की जाती है। इस अवसर पर मंडल के उपाध्यक्ष अनिल जोशी व निदेशक बीना शर्मा ने आगरा में पत्रकारों, हिदी लेखकों, विद्वानों और हिंदी सेवियों की एक सभा को संबोधित किया। 

2018 के लिए निम्नलिखित विद्वानों को हिंदी सेवी सम्मान दिए गए हैं:

गंगा शरण सिंह पुरस्कार

1. श्रीमती के. श्रीलता (केरल)
2. श्री बलवंत जानी (गुजरात)
3. श्री एल. वी. के. श्रीधरन (तमिलनाडु)
4. श्री राजेंद्र प्रसाद मिश्र (उड़ीसा)

गणेश शंकर विद्यार्थी पुरस्कार
1. श्री अनंत विजय
2. श्री हेमंत शर्मा

आत्माराम पुरस्कार
1. श्री कृष्ण कुमार मिश्र
2. श्री प्रेमव्रत शर्मा

सुब्रह्मण्य भारती पुरस्कार
1. श्री बालस्वरूप राही
2. श्री माधव कौशिक

महापंडित राहुल सांकृत्यायन पुरस्कार
1. श्री नर्मदा प्रसाद उपाध्याय
2. श्री जयप्रकाश

डॉ. जॉर्ज ग्रियर्सन पुरस्कार
1. श्री हाइंस वरनर वैसलर (जर्मनी)
2. श्री शरणगुप्त वीरसिंह (श्रीलंका)

पद्मभूषण डॉ. मोटूरि सत्यनारायण पुरस्कार
1. स्वामी संयुक्तानंद (फ़ीजी)
2. श्रीमती मृदुल कीर्ति (अमेरिका)

सरदार वल्लभ भाई पटेल पुरस्कार
1. श्री जीत सिंह जीत
2. श्री रवींद्र सेठ

दीनदयाल उपाध्याय पुरस्कार
1. श्री सच्चिदानंद जोशी
2. श्री चंद्र प्रकाश द्विवेदी
स्वामी विवेकानंद पुरस्कार
1. श्री मनोज कुमार श्रीवास्तव
2. सुश्री सरोज बाला

पंडित मदन मोहन मालवीय पुरस्कार
1. श्री अतुल कोठारी
2. श्री राजकुमार भाटिया


राजर्षि पुरुषोत्तम दास टंडन पुरस्कार
1. श्री रमेश चंद्र नागपाल
2. श्री शैलेंद्र कुमार अवस्थी

[भारत-दर्शन समाचार] 

Previous Page  |  Index Page  |   Next Page
 
 
Post Comment
 
 
 

सब्स्क्रिप्शन

इस अंक में

 

इस अंक की समग्र सामग्री पढ़ें

 

 

सम्पर्क करें