जब हम अपना जीवन, जननी हिंदी, मातृभाषा हिंदी के लिये समर्पण कर दे तब हम किसी के प्रेमी कहे जा सकते हैं। - सेठ गोविंददास।
प्रसिद्ध साहित्यकार प्रभु जोशी नहीं रहे (विविध)  Click to print this content  
Author:भारत-दर्शन समाचार

4 अप्रैल 2021 (भारत): प्रसिद्ध साहित्यकार, चित्रकार और पत्रकार प्रभु जोशी का निधन हो गया। उनका 'कोविड पाजिटिव' होने के बाद से उपचार चल रहा था।

[भारत-दर्शन समाचार]

Previous Page  |  Index Page  |   Next Page
 
 
Post Comment
 
 
 

सब्स्क्रिप्शन

इस अंक में

 

इस अंक की समग्र सामग्री पढ़ें

 

 

सम्पर्क करें