विदेशी भाषा का किसी स्वतंत्र राष्ट्र के राजकाज और शिक्षा की भाषा होना सांस्कृतिक दासता है। - वाल्टर चेनिंग
 
शैलेंद्र चौहान को आचार्य रामचंद्र शुक्ल कालजयी सम्मान (विविध)     
Author:भारत-दर्शन समाचार

30 सितंबर 2019 (भारत): साहित्यकार, पत्रकार, कवि व आलोचक शैलेंद्र चौहान को कालजयी मंच, सिलीगुड़ी ने 'आचार्य रामचंद्र शुक्ल कालजयी सम्मान' से अलंकृत किया। यह सम्मान उन्हें 30 सितंबर को गुरूंग बस्ती के सिलीगुड़ी मॉडल हाई स्कूल में आयोजित समारोह में प्रदान किया गया।

मैनपुरी (उत्तर प्रदेश) के निवासी शैलेंद्र चौहान एक कवि, कथाकार, आलोचक व पत्रकार हैं। स्पष्टवादिता शैलेंद्र चौहान के साहित्य की पहचान भी है और विशेषता भी। आप व्यवसाय से इंजीनियर रहे हैं।

कालजयी मंच की स्थापना 1990 में आचार्य कैलाश नाथ ओझा ने की थी। मंच के जरिये आचार्य कैलाश नाथ ओझा की परंपरा को आगे बढ़ाने का कार्य किया जा रहा है।

सम्मान समारोह में कवि व वरिष्ठ साहित्यकार तथा कालजयी मंच के अध्यक्ष डॉक्टर भिखी प्रसाद 'विरेंद्र', व्यंगकार व मंच के कार्यकारी अध्यक्ष महावीर चाचान, मंच के महासचिव देवेंद्र नाथ शुक्ल, साहित्यकार बबीता अग्रवाल, नेमातुल्ला नूरी व इरफान ए आजम के अतिरिक्त बिहार के पूर्व विधायक रामाश्रय सिंह, सिलीगुड़ी मॉडल हाईस्कूल (एचएस) के प्रधानाचार्य डॉ. एसएस अग्रवाल, शिक्षक डॉक्टर मुन्ना लाल, सिलीगुड़ी कॉलेज के अध्यापक अजय साव सम्मिलित हुए।

[भारत-दर्शन समाचार]

Previous Page  |  Index Page  |   Next Page
 
 
Post Comment
 
 
 

सब्स्क्रिप्शन

इस अंक में

 

इस अंक की समग्र सामग्री पढ़ें

 

 

सम्पर्क करें

आपका नाम
ई-मेल
संदेश

Deprecated: Directive 'allow_url_include' is deprecated in Unknown on line 0