विदेशी भाषा का किसी स्वतंत्र राष्ट्र के राजकाज और शिक्षा की भाषा होना सांस्कृतिक दासता है। - वाल्टर चेनिंग
 
अंतरराष्ट्रीय हिंदी कहानी प्रतियोगिता 2019 (विविध)     
Author:भारत-दर्शन समाचार

विश्व हिंदी सचिवालय मॉरीशस एक अंतरराष्ट्रीय हिंदी कहानी प्रतियोगिता का आयोजन कर रहा है। यह आयोजन विश्व हिंदी दिवस 2020 के उपलक्ष्य में किया जा रहा है जिसके लिए प्रविष्टियाँ आमंत्रित हैं। प्रविष्टि भेजने की अंतिम तिथि 13 दिसंबर 2019 है। परिणामों की घोषणा विश्व हिंदी दिवस 2020 के समारोह में की जाएगी। 

इस प्रतियोगिता को पाँच भौगोलिक क्षेत्रों में बाँटा गया है जिनमें अफ्रीका व मध्य पूर्व, अमेरिका, एशिया व ऑस्ट्रेलिया (भारत के अतिरिक्त), यूरोप और भारत सम्मिलित हैं। इस प्रतियोगिता में प्रथम, द्वितीय और तृतीय स्थान पाने वालों को 300, 200 और 100 अमरीकन डालर की धनराशि व प्रमाण-पत्र से पुरस्कृत किया जाएगा। 

विश्व हिंदी सचिवालय पिछले कई वर्षों से विभिन्न विधाओं पर ऐसी प्रतियोगिताएँ आयोजित कर चुका है जिनमें लघुकथा, एकाँकी और यात्रा वृतांत सम्मिलित हैं। इसी शृंखला को आगे बढ़ाते हुए इस बार 'हिंदी कहानी प्रतियोगिता' का चयन किया गया है।

आप डाक अथवा ई-मेल द्वारा अपनी प्र्विष्टि सचिवालय को भेज सकते हैं।


ई-मेल: whscompetitions@gmail.com
पता: World Hindi Secretariat, Independence Street, Phoneix-73423, Mauritius


नियम व शर्ते:

- प्रत्येक प्रतिभागी से केवल एक ही प्रविष्टि स्वीकार की जाएगी।
- कहानी देवनागरी लिपि में स्पष्ट, हस्तलिखित अथवा टंकित होनी चाहिए।
- कहानी अप्रकाशित (प्रिंट अथवा इलेक्ट्रॉनिक), मौलिक एवं कॉपीराइट से 
स्वतंत्र होनी चाहिए।
- प्रविष्टि पर प्रतिभागी का नाम, हस्ताक्षर और अन्य विवरण न हों। प्रतिभागी का नाम, पता, फ़ोन नंबर तथा इ-मेल एक अलग पृष्ठ पर लिखकरसंलग्न करना अनिवार्य है।

- लिफ़ाफ़े के ऊपरी बाएँ कोने पर अथवा ई-मेल के विषय के रूप में 'अंतरराष्ट्रीय कहानी-लेखन प्रतियोगिता' तथा 'भौगोलिक क्षेत्र लिखा होना चाहिए।
- निर्णायक मंडल का निर्णय अंतिम होगा।
- विश्व हिंदी सचिवालय कहानी को प्रकाशित करने का अधिकार रखता।

[भारत-दर्शन समाचार ]

Previous Page  |  Index Page  |   Next Page
 
 
Post Comment
 
 
 

सब्स्क्रिप्शन

इस अंक में

 

इस अंक की समग्र सामग्री पढ़ें

 

 

सम्पर्क करें

आपका नाम
ई-मेल
संदेश

Deprecated: Directive 'allow_url_include' is deprecated in Unknown on line 0