वह हृदय नहीं है पत्थर है, जिसमें स्वदेश का प्यार नहीं। - मैथिलीशरण गुप्त।
भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद् दिवस | 9 अप्रैल
 
 

ICCR LOGO

भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद् (ICCR / Indian Council for Cultural Relations) की स्थापना स्वतंत्र भारत के प्रथम शिक्षामंत्री मौलाना अबुल कलाम आज़ाद द्वारा 1950 में की गई थी।

परिषद् का उद्देश्य भारत के विदेशी सांस्कृतिक संबंधों से संबंधित नीतियां और कार्यक्रम तैयार करना और उनके कार्यान्वयन में भागीदारी स्थापित करना है। भारत और अन्य देशों के बीच सांस्कृतिक संबंधों और पारस्परिक समझ बढ़ाना और उसे सुदृढ़ करना; अन्य देशों और लोगों के साथ सांस्कृतिक आदान-प्रदान को बढ़ावा देना; संस्कृति के क्षेत्रों में राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय संगठनों से संबंध स्थापित करना और उन्हें विकसित करना; और ऐसे कदम उठाना है जो इन उद्देश्यों को आगे बढ़ाने के लिए महत्वपूर्ण हों।

भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद् का संबंध संस्कृतियों के समन्वय, अन्य देशों के साथ रचनात्मक संवाद से है। विश्व की संस्कृतियों के साथ इस पारस्परिक विचार-विमर्श को सुगम बनाने के लिए परिषद् देश में और विश्व के अन्य देशों के साथ भारत की संस्कृतियों की विविधता और समृद्धि को व्यक्त और प्रदर्शित करने का प्रयास करती है।

परिषद् सांस्कृतिक कूटनीति में लगे रहने और भारत एवं अन्य सहभागी देशों के बीच बौद्धिक आदान-प्रदान को प्रायोजित करने वाली पूर्व-प्रतिष्ठित संस्था होने पर स्वयं को गौरान्वित महसूस करती है। परिषद् का यह संकल्प है कि आने वाले वर्षों में भारत की महान सांस्कृतिक और शैक्षिक प्रफुल्लता के प्रतीक को बनाए रखे।

[ भा.सां.सं.प / भारत-दर्शन ]

 

 
 

Comment using facebook

 
 
Post Comment
 
Name:
Email:
Content:
 
 
  Type a word in English and press SPACE to transliterate.
Press CTRL+G to switch between English and the Hindi language.

सब्स्क्रिप्शन

सर्वेक्षण

भारत-दर्शन का नया रूप-रंग आपको कैसा लगा?

अच्छा लगा
अच्छा नही लगा
पता नहीं
आप किस देश से हैं?

यहाँ क्लिक करके परिणाम देखें

इस अंक में

 

इस अंक की समग्र सामग्री पढ़ें

 

 

सम्पर्क करें

आपका नाम
ई-मेल
संदेश