समस्त भारतीय भाषाओं के लिए यदि कोई एक लिपि आवश्यक हो तो वह देवनागरी ही हो सकती है। - (जस्टिस) कृष्णस्वामी अय्यर
स्वामी विवेकान्द जयंती | 12 जनवरी
 
 

12 जनवरी को 'स्वामी विवेकानंद' की जयंती है।

स्वामी विवेकानंद - चित्रांकन रोहित कुमार हैप्पी

'उत्तिष्ठत जाग्रत प्राप्य वरान्निबोधत।'

अर्थात्

'उठो, जागो, और ध्येय की प्राप्ति तक रूको मत।'

12 जनवरी को 'स्वामी विवेकानंद' की जयंती है। इस अवसर पर पढ़िए स्वामी विवेकानंद के प्रसंग, कविताएं, अमर-वचन, पवहारी बाबा की कथाएं व उनका ऐतिहासिक भाषण

 
 
Posted By Anand Raj Yadav   on  Thursday, 01-01-1970
Thank you
Posted By Nakul prajapti   on  Thursday, 01-01-1970
Marvelous

Comment using facebook

 
 
Post Comment
 
Name:
Email:
Content:
 
 
  Type a word in English and press SPACE to transliterate.
Press CTRL+G to switch between English and the Hindi language.

सब्स्क्रिप्शन

इस अंक में

 

इस अंक की समग्र सामग्री पढ़ें

 

 

सम्पर्क करें