हृदय की कोई भाषा नहीं है, हृदय-हृदय से बातचीत करता है। - महात्मा गांधी।
 
चंद्रधर शर्मा गुलेरी की लघु कथाएं (कथा-कहानी)       
Author:चंद्रधर शर्मा गुलेरी | Chandradhar Sharma Guleri

चंद्रधर शर्मा 'गुलेरी' को उनकी कहानी, 'उसने कहा था' के लिए जाना जाता है। गुलेरी ने कुछ लघु-कथाएं भी लिखी जिन्हें हम यहाँ संकलित कर रहे हैं:

  • पाठशाला
  • गालियां
  • भूगोल
  • चोरों की दाड़ी में तिनके
  • दूध के पैगम्बर

यदि आपके पास गुलेरीजी की अन्य लघु-कथाएं उपलब्ध हों तो कृपया हमसे साझा करें।

 

 

Back
More To Read Under This

 

गालियां
भूगोल | लघु-कथा
पाठशाला
 
 
Post Comment
 
 
 
 

सब्स्क्रिप्शन

इस अंक में

 

इस अंक की समग्र सामग्री पढ़ें

 

 

सम्पर्क करें

आपका नाम
ई-मेल
संदेश