यह कैसे संभव हो सकता है कि अंग्रेजी भाषा समस्त भारत की मातृभाषा के समान हो जाये? - चंद्रशेखर मिश्र।

शिवरानी देवी प्रेमचंद

शिवरानी देवी प्रेमचंद कथा-सम्राठ मुंशी प्रेमचंद की जीवन-संगिनी थीं।

शिवरानी देवी के पिता का नाम मुंशी देवीप्रसाद था। शिवरानी बाल-विधवा थीं व 1905 में शिवरानी का विवाह मुंशी प्रेमचंद से हुआ।

शिवरानी ने स्वाधीनता आंदोलन में सक्रिय भाग लिया। आप स्वाधीनता के लिए लड़ीं व 1930 में आपको 2 महीने का कारावास हुआ।

'प्रेमचंद घर में' आपकी चर्चित साहित्य-कृति है। आपकी रचनाएं चाँद व हंस में प्रकाशित होती रही हैं।

Author's Collection

Total Number Of Record :1

कप्तान

ज़ोरावर सिंह की जिस दिन शादी हुई, बहू आई, उसी रोज़ ज़ोरावर सिंह की कप्तानी को जगह मिली। घर में आकर बोला ज़ोरावर अपनी बीवी से -- 'तुम बड़ी भाग्यवान हो। कल तुम आई नहीं, आज मैं कप्तान बन बैठा ।'

उसकी बीवी का नाम सुभद्रा; सुभद्रा यह सब सुन करके ख़ुश होने के बजाय चिन्तित हो गई।
...

More...
Total Number Of Record :1

सब्स्क्रिप्शन

सर्वेक्षण

भारत-दर्शन का नया रूप-रंग आपको कैसा लगा?

अच्छा लगा
अच्छा नही लगा
पता नहीं
आप किस देश से हैं?

यहाँ क्लिक करके परिणाम देखें

इस अंक में

 

इस अंक की समग्र सामग्री पढ़ें

 

 

सम्पर्क करें

आपका नाम
ई-मेल
संदेश